Connect with us

Punjab

CM मान व अरविंद केजरीवाल ने की पंजाब में ‘विकास क्रांति’ के लामिसाल युग की शुरुआत

Published

on

होशियारपुर: पंजाब में ‘विकास क्रांति’ के लामिसाल युग की शुरूआत करते हुए पंजाब के मुख्य मंत्री भगवंत सिंह मान और दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल ने होशियारपुर के लोगों को 867 करोड़ रुपए के विकास प्रोजैक्टों के उद्घाटन और नींव पत्थर रखते समय एलान कर बड़ा तोहफा दिया। दोनों नेताओं ने 550 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले सरकारी मेडिकल कालेज सहित कई प्रोजैक्टों के नींव पत्थर रखे। शहीद उधम सिंह के नाम पर बनने वाले इस कालेज में एम.बी.बी.एस. की 100 सीटें होंगी और इसमें राष्ट्रीय मेडिकल कमिश्नर यू.जी.-एम.एस.आर.-2023 के अंतर्गत 420 बिस्तर वाला अस्पताल अपेक्षित होगा। दोनों मुख्य मंत्रियों ने गांव खुरालगढ़ में श्री गुरु रविदास जी मैमोरियल और आडीटोरियम एंव ओपन थियेटर भी लोगों को समर्पित किया। 

दोनों मुख्य मंत्रियों ने कहा कि 148 करोड़ रुपए की लागत से तैयार यह प्रोजैक्ट लोगो को श्री गुरु रविदास जी महाराज के जीवन और फलसफे के बारे में अवगत करवाने में सहायक होगा। इस दौरान दोनों नेताओं ने 30. 82 करोड़ रुपए की लागत के साथ गांव बजवाड़ा और किला भैरों में बनने वाले सीवरेज प्रोजैक्ट का नींव पत्थर भी रखा। उन्होंने होशियारपुर में फर्द केंद्र के साथ तहसील इमारत के निर्माण का भी नींव पत्थर रखा, जिस पर 5. 29 करोड़ रुपए की लागत आएगी। 

इस इमारत में एस.डी.एम. दफ्तर, एस.डी.एम. अदालत, तहसील दफ्तर, तहसीलदार अदालत, सब रजिस्ट्रेशन दफ्तरर, कैंटीन, वेटिंग एरिया, मीटिंग रूम, फर्द केंद्र, रिकार्ड रूम और अन्य सुविधाएं होंगी। इसी तरह मोहल्ला कच्चा टोबा, न्यू शांति नगर, प्रेमगढ़, न्यू बैंक कालोनी और बूथगढ़ निवासियों को पीने वाले पानी की निर्विघ्न स्पलाई के लिए 1. 94 करोड़ रुपए के प्रोजैक्टों का नींव पत्थर भी रखा गया। दोनों नेताओं ने बालापीर रोड, टांडा रोड से मुख्य सड़क बेगोवाल के निर्माण और बेगोवाल शहर में दोनों तरफ इंटरलाकिंग टायलें लगाने के प्रोजैक्ट का भी नींव पत्थर रखा, जिस पर 1. 52 करोड़ रुपए की लागत आएगी। 

इसी तरह फगवाड़ा में भी 14 करोड़ रुपए के अलग-अलग विकास कामों का नींव पत्थर रखा गया। गढ़शंकर में 1. 36 करोड़ रुपए की लागत से 100 प्रतिशत वाटर स्पलाई पाईप लाईन बिछाने का नींव पत्थर भी रखा गया, जिससे लोगों को बड़ी राहत मिली है। दोनों मुख्य मंत्रियों ने 22. 68 करोड़ रुपए की लागत से सभी जिलों में खाली पड़ी पंचायती जमीनों और चार एकड़ रकबे में खेल मैदानों के निर्माण के लिए एक बड़े प्रोजैक्ट की शुरूआत भी की। 

दोनों नेताओं ने हथियारबंद सेना की भर्ती परीक्षा के लिए लड़कों और लड़कियों के प्रशिक्षण के लिए 26. 96 करोड़ रुपए की लागत से बनाए गए एस. बहादर अमी चंद सोनी इंस्टीट्यूट का उद्घाटन भी किया ताकि युवाओं को हथियारबंद सेना में दाखिला लेने की सुविधा दी जा सके। उन्होंने 5.75 करोड़ रुपए की लागत के साथ बनाए गए 30 बिस्तरों वाले मदर एंड चाइल्ड अस्पताल विंग के लिए नई इमारत भी समर्पित की। दोनों मुख्य मंत्रियों ने गढ़शंकर में 0. 80 करोड़ की लागत से हाल ही में अपग्रेड किया सब डिवीजन अस्पताल भी लोगों को समर्पित किया। 

इसी तरह माहिलपुर में नए बने आम आदमी क्लीनिक को भी दोनों मुख्य मंत्रियों द्वारा लोगों को समर्पित किया गया। उन्होंने कहा कि 0. 5 करोड़ रुपए की लागत से तैयार किया गया यह क्लीनिक लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने में सहायक सिद्ध होगा। दोनों नेताओं ने हरियाणा नगर कौंसिल के लिए 3.14 करोड़ रुपए की लागत से सीवरेज की सुविधा देने का भी ऐलान किया। 

दोनों मुख्य मंत्रियों ने 500 व्यक्तियों की सामर्थ्य वाला मल्टीपर्पज हाल भी दसूहा के लोगों को समर्पित किया, जहां लोग कम कीमत पर विवाह, समागम, सभा, मीटिंग और अन्य काम कर सकेंगे। यह प्रोजैक्ट 1. 42 करोड़ रुपए की लागत से पूरा किया गया है। इसी तरह जल स्पलाई योजना के लिए 100 करोड़ रुपए की लागत आई है। कालोवाल और मीरपुर कोटली के लोगों को 1. 59 करोड़ रुपए की लागत वाले ट्यूबवैल, सिविल वर्क और ओ.एच.एस.आर प्रोजैक्ट तोहफे के तौर पर दिए गए है। टाहली और बघौरा (चब्बेवाल) के लोगों को क्रमअनुसार 0.15 करोड़ और 0.20 करोड़ रुपए की लागत से नए ट्यूबवैल का तोहफा दिया गया। 

लोगों को पीने योग्य पीने वाले पानी की स्पलाई को यकीनी बनाने के लिए दोनों मुख मंत्रियों ने मुकेरियां के सीबो चैक, भोजपुर, अब्दुल्लापुर और कालू चांग गांवों के निवासियों को 1. 85 करोड़ रुपए की लागत के साथ ट्यूबवैल, सिविल वर्क और ओ.एच.एस.आर सहित जल स्पलाई योजना का तोहफा भी दिया। उन्होंने ढिल्लवां शहर में 1.53 करोड़ रुपए और नडाला शहर में 1.18 करोड़ रुपए के विकास कार्यों और एन.पी. भुलत्थ में नए बने क्लस्टर फायर ब्रिगेड दफ्तर का उद्घाटन किया। जो कि 0.45 करोड़ रुपए की लागत से अन्य पड़ोसी यू.एल. बीज नडाला, ढिल्लवां और बेगोवाल को और 1 करोड़ रुपए की लागत से नडाला, ढिल्लवां, भुलत्थ और बेगोवाल के आम आदमी कलीनिकों को जोड़ेगा। 

दोनों मुख्य मंत्रियों ने होशियारपुर के लाजवंती आउटडोर स्टेडियम में आठ लेन अथलैटिकस सिंथेटिक ट्रैक और सरकारी कालेज, टांडा में 6-6 करोड़ रुपए की लागत से आठ लेन अथलैटिकस सिंथेटिक ट्रैक बनाने की योजना का भी ऐलान किया। उन्होंने होशियारपुर में 6. 77 करोड़ की लागत से जिला अस्पताल की इमारत की मुरम्मत और नवीनीकरण का भी ऐलान किया। इसी तरह उन्होंने कम्युनिटी हैल्थ सैंटर गढ़दीवाला को 8.05 करोड़ रुपए की लागत से अपग्रेड करने, सी.एच.सी टांडा को 2. 40 करोड़ रुपए की लागत से अपग्रेड करने और सी.एच.सी बुढाबाद को 2.26 करोड़ रुपए की लागत से अपग्रेड करने का ऐलान भी किया। 

दोनों मुख्य मंत्रियों ने यह भी कहा कि टांडा में पांच करोड़ रुपए की लागत से एस.डी.एम. दफ्तर और अदालत, तहसीलदार दफ्तर और कचहरी, वेटिंग एरिया, मीटिंग हाल, फर्द केंद्र, रिकार्ड रूम और अन्य सुविधाओं के साथ नई तहसील की इमारत बनाई जाएगी। उन्होंने यह भी ऐलान किया कि खरखाण, पिप्पलवाला, बूथगढ़, नारी, सिंघपुर, भाम, ढड्डे कटवाल, हरसा मानसर, अंबाला जट्टा, कोई, झज्ज, कुराला कलां, तलवंडी डंडीयां, बाबक, भंबोतर, चमूही, साठवां, संसारपुर, सफदरपुर, तलवाड़ा सिटी, रामगढ़ सीकरी, दारापुर, बहेड़ा, मस्तपुर, मिर्जापुर खडियाला, भागोवाल और माहिलपुर में 6. 96 करोड़ की लागत से आम आदमी क्लीनिक खोले जाएंगे। इसी तरह उन्होंने बताया कि होशियारपुर-1 भूंगा, टांडा, दसूहा और श्री हरगोबिंदपुर ब्लाकों में नई लाईब्रेरी खोलने पर 2. 56 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।

author avatar
Editor One
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Punjab

सीएम भगवंत मान का सरकारी Employees के लिए हुकम, महीने के अंदर करवाएं प्रमोशन

Published

on

सरकारी Employees के लिए अच्छी खबर है| पंजाब सरकार द्वारा जल्द ही कर्मचारियों की पदोन्नति की जाएगी। इस संबंध में सरकार के विभिन्न विभागों में कर्मचारियों या अधिकारियों की पदोन्नति के सभी लंबित मामलों का निपटारा एक महीने में किया जाएगा इस मामले को लेकर कार्मिक विभाग सख्त हो गया है|

विभाग ने इस संबंध में सभी विभागों के प्रमुखों को पत्र भेजकर प्राथमिकता के आधार पर कार्रवाई करने के आदेश जारी किये हैं. साथ ही मामलों के निस्तारण के बाद सरकार को रिपोर्ट भी सौंपनी होगी| जालंधर उपचुनाव संपन्न होने के बाद राज्य सरकार एक्शन मोड में आ गई है|

सरकार ने कर्मचारियों को खुश करने के लिए प्रमोशन के मामलों को तेजी से निपटाने का आदेश दिया है. दरअसल, सरकार ने दिसंबर 2023 में सभी विभागों को एक पत्र जारी किया था. इसमें विभिन्न संवर्गों के अधिकारियों को दो महीने के भीतर पदोन्नत करने को कहा गया है।

अब कार्मिक विभाग के संज्ञान में आया है कि कई विभागों में अभी भी कर्मचारियों की पदोन्नति से संबंधित मामले लंबित हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान के आदेश पर सभी विभागों को पत्र जारी कर दिए गए हैं । इन पत्रों में उक्त लंबित मामलों को निर्धारित नियमों का पालन करते हुए निपटाने का आदेश दिया गया है|

आपको बता दें कि प्रदेश के विभिन्न सरकारी विभागों में करीब 3 लाख कर्मचारी सेवाएं दे रहे हैं. इनमें से 70 हजार कॉन्ट्रैक्ट पर और 60 हजार आउटसोर्सिंग पर काम करते हैं. ऐसे में यह आदेश केवल स्थायी कर्मचारियों पर ही लागू होगा. इसके साथ ही समय पर प्रमोशन देने के पीछे सरकार की सोच खुद को कानूनी पचड़ों से बचाना है| हाल ही में मास्टर कैडर प्रमोशन से जुड़ा एक मामला हाईकोर्ट पहुंचा। ऐसे में सरकार इस मामले को सुलझाने में जुटी है|

इससे पहले सरकार ने सभी सरकारी विभागों में 15 जुलाई से 15 अगस्त तक ट्रांसफर प्रक्रिया शुरू करने का फैसला किया है. विभाग ने तय किया है कि इस बार एक माह के अंदर स्थानांतरण पूरा कर लिया जायेगा| इसके साथ ही अब 6635 ईटीटी शिक्षकों ने मांग की है कि उन्हें तबादले के लिए विशेष अवसर दिया जाए| उन्होंने शासन को पत्र भी भेजा है।

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Punjab

Ravneet Bittu ने पंजाब के महत्वपूर्ण मुद्दों पर निर्मला सीतारामन् से की बात

Published

on

केंद्रीय रेल एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री Ravneet Bittu ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की और जम्मू-कश्मीर की तर्ज पर पंजाब के सीमावर्ती जिलों, उद्योगों के लिए विशेष रियायतें देने की मांग के अलावा पंजाब के महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की और उद्योगों को रियायतें देने को लेकर लंबी चर्चा की |

कल देर रात हुई मैराथन बैठक में बिट्टू ने पंजाब के मुद्दे उठाते हुए वित्त मंत्री से अपील की कि सीमावर्ती राज्य के तौर पर पंजाब की मांगों पर प्राथमिकता के आधार पर विचार किया जाए. बिट्टू ने कहा कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर राज्यों की तर्ज पर राज्य में निवेश और रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए पंजाब के सीमावर्ती जिलों अमृतसर, फिरोजपुर, गुरदासपुर और तरनतारन के लिए विशेष रियायतें मांगी हैं।

मंत्री ने एफएम को सूचित किया कि तकनीकी प्रगति हासिल करने के लिए एमएसएमई को समर्थन देने के लिए प्रभावी योजनाओं की कमी के कारण प्रमुख क्रेडिट लिंक्ड कैपिटल सब्सिडी योजना (सीएलसीएसएस) को 1,00,00,000 की सीमा के साथ फिर से शुरू किया जाना चाहिए पूंजीगत लागत में हाल की वृद्धि को देखते हुए, यह वांछित है कि प्रधान मंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम (पीएमईजीपी) के तहत सीमा को 1,00,00,000 तक बढ़ाया जाए।

पंजाब में एमएसएमई को कवर करने के लिए माल ढुलाई सब्सिडी मानदंड में संशोधन का सुझाव देते हुए, बिट्टू ने वित्त मंत्री से अनुरोध किया कि भारत में निकटतम बंदरगाह तक परिवहन की लागत पंजाब जैसे भूमि से घिरे राज्यों की तुलना में कम होनी चाहिए। लागत संबंधित राज्य से निकटतम बंदरगाह की दूरी पर भी निर्भर करती है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड के कुछ हिस्से और पश्चिम बंगाल जैसे कई अन्य राज्य 5o से 90 प्रतिशत तक परिवहन सब्सिडी का आनंद ले रहे हैं।

बिट्टू ने पंजाब से खाद्य पदार्थों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए अमृतसर के श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास प्रशीतन इकाई पर काम शुरू करने की भी मांग की। वर्षों पहले लगाई गई यूनिट काम नहीं कर रही है। इससे पंजाब और पड़ोसी राज्यों को भी फायदा होगा।

बिट्टू ने “किसान उद्यमिता पहल” और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग के साथ-साथ कृषि-आधारित एमएसएमई उद्योग पर विशेष रियायतों पर जोर दिया क्योंकि इससे पंजाब के किसानों को खाद्य प्रसंस्करण उद्योग स्थापित करने में मदद मिलेगी जो सीमावर्ती राज्य में रोजगार पैदा करेंगे। उन्होंने कम ब्याज दर, संपार्श्विक मुक्त ऋण, सीजीएसटी में छूट का सुझाव दिया।

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Punjab

स्कूल जा रहे बच्चों पर महिला ने तानी Pistol, वीडियो बनाने पर भड़की थी

Published

on

समराला इलाके में उस समय स्कूली बच्चों और अभिभावकों के बीच तनाव का माहौल पैदा हो गया जब एक महिला ने Pistol के साथ एक स्कूल वैन को रोक लिया और बच्चों द्वारा बनाई गई वीडियो को डिलीट कर दिया। यह मामला कार्रवाई के लिए समराला थाने में पहुंच गया है।

संबंधित निजी स्कूल के प्रिंसिपल की ओर से लिखी गई याचिका में आरोप लगाया गया है कि स्कूल वैन जिसमें ग्यारहवीं और उससे ऊपर की कक्षा की 11 छात्राएं और 14 छात्र मौजूद थे| जब यह वैन समराला बाइपास पर स्कूल के पास पहुंची तो पीछे से एक फॉर्च्यूनर गाड़ी आई जिसे एक महिला चला रही थी।

महिला ने अपनी गाड़ी स्कूल वैन के सामने खड़ी कर दी और वैन रोक दी. स्कूल प्रिंसिपल का आरोप है कि महिला के हाथ में पिस्तौल थी| महिला वैन में घुसी और बच्चों से कहा कि तुम जो वीडियो बना रहे हो उसे तुरंत डिलीट कर दो। उन्होंने कहा कि हालांकि ये बच्चे स्नैपचैट खेल रहे थे|

उन्होंने बताया कि इस घटना के बाद वैन के अंदर मौजूद बच्चे बुरी तरह झुलस गए. इस संबंध में जब प्रिंसिपल से पूछा गया कि बच्चों को स्कूल में मोबाइल फोन लाना कितना जायज है तो उन्होंने कहा कि स्कूल शुरू होने से पहले ये मोबाइल फोन जमा करा लिए जाते हैं, लेकिन स्कूल छोड़ने पर ये वापस कर दिए जाते हैं. उन्होंने पुलिस प्रशासन से मांग की कि बच्चों के साथ इस तरह की हरकत करने वाली महिला के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए|

इस संबंध में जब पुलिस प्रमुख दविंदरपाल से बात की गई तो उन्होंने कहा कि पुलिस को यह मामला संदिग्ध लग रहा है। उचित जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि पुलिस को दिये गये आवेदन में एंडेवर गाड़ी का जिक्र किया गया है, लेकिन अब उनके द्वारा फॉर्च्यूनर का बयान दिया गया है. उन्होंने कहा कि सीसीटीवी कैमरों की मदद से वाहन का पता लगाया गया और अज्ञात महिला को पुलिस स्टेशन ले जाया गया और आगे की कार्रवाई की जाएगी |

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Trending