Connect with us

Himachal Pradesh

हिमाचल प्रदेश के लाहौल घाटी में शुरू हुई बर्फबारी, 10 नवंबर के लिए येलो अलर्ट किया जारी

Published

on

दिवाली से पहले हिमाचल प्रदेश में मौसम में बदलाव देखने को मिला हिमाचल प्रदेश के ऊंचे इलाकों में बर्फबारी हुई है| इसके साथ ही मध्य पर्वतीय इलाकों में हल्की बारिश भी हुई. हालांकि, शुक्रवार को शिमला शहर में धूप खिली रही.
बता दे की मौसम विभाग ने 10 नवंबर के लिए येलो अलर्ट जारी किया है. फिलहाल बीती रात लाहौल स्पीति के रोहतांग दर्रे में सिसु और बारलाचा पर बर्फबारी हुई है. अटल टनल के पास भी बर्फ गिरी है|

जानकारी के मुताबिक लाहौल घाटी में मौसम ने करवट ले ली है. जहां कल रात बर्फबारी हुई. इसके साथ ही सुबह के समय बादल भी छाए हुए हैं। लाहौल स्पीति में अटल सुरंग के उत्तरी पोर्टल बारालाचा ला, शिंकुला, कुंजम ज्योत में कल रात बर्फबारी हुई।

हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में भी बादल छाए हुए हैं. इसी तरह अन्य इलाकों में भी बादलों और धूप की आंख-मिचौनी देखने को मिल रही है। 11 से 15 नवंबर तक पूरे प्रदेश में मौसम साफ रहने की संभावना है.

गुरूवार जून को 29.0, कांगड़ा 27.6, भीमला 26.3, धम्बाला 25.5 डिग्री सेल्सियस, 24.5 डिग्री सेल्सियस, 27.6 डिग्री सेल्सियस, 27.6 डिग्री सेल्सियस रहा.
बता दें कि हिमाचल प्रदेश में पिछले 20 दिनों से बारिश नहीं हुई है और शुष्क ठंड पड़ रही है. ऊंचाई वाले इलाकों में सुबह और शाम अधिक ठंड महसूस हो रही है।


मौसम को देखते हुए हिमाचल पुलिस और प्रशासन ने पर्यटकों और अन्य लोगों को ऊंचाई वाले इलाकों में सावधानी के साथ यात्रा करने की सलाह दी है. फिलहाल अटल टनल रोहतांग से वाहनों की आवाजाही सुचारु रूप से चल रही है।

Himachal Pradesh

हिमाचल में भारी बारिश और बर्फबारी से लोगों की मुश्किलें बढ़ीं, 650 से ज्यादा सड़कें बंद

Published

on

By

हिमाचल प्रदेश में बारिश और बर्फबारी ने काहिर को तबाह कर दिया है। हिमाचल प्रदेश के कई जिलों में भूस्खलन से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। राज्य में कई सड़कें बंद हो गई हैं और कई इलाकों में बिजली गुल हो गई है। शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, कुल्लू, शिमला, चंबा, मंडी, किन्नौर और लाहौल-स्पीति जिलों में कुछ इंच से लेकर 2-3 फीट तक भारी बर्फबारी हुई है। इसके चलते राज्य भर में 4 नेशनल हाईवे और 654 सड़कें बंद हो गई हैं।

अधिकारियों ने बताया कि लाहौल-स्पीति के जसरत गांव के पास दारा झरने पर भूस्खलन के बाद चिनाब नदी का प्रवाह बाधित हो गया है, जबकि जिले में पिछले 24 घंटों में भारी बर्फबारी हुई है। लाहौल-स्पीति के पुलिस अधिकारी मयंक चौधरी ने कहा कि आसपास के गांवों जोबरंग, रापी, जसरत, तरंद और थ्रोट के लोगों को सतर्क रहने और आपात स्थिति में नजदीकी पुलिस स्टेशन को सूचित करने की सलाह दी गई है।

इस संबंध में अधिकारियों ने बताया कि किन्नौर जिले के सांगला में करछम हेलीपैड के पास भी भूस्खलन की सूचना मिली है. राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के अनुसार, 4 राजमार्गों सहित 654 सड़कों पर यातायात बंद है। लाहौल-स्पीति में 290, किन्नौर में 75, चंबा में 72, शिमला में 35, कुल्लू में 18, मंडी में 16, कांगड़ा और सिरमौर जिलों में एक-एक सड़कें बंद हैं।

बता दें कि मौसम विभाग ने लगातार दूसरे दिन हिमाचल के मध्य और निचले पहाड़ों में मध्यम से भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। राज्य में कुल वर्षा 42.2 मिमी दर्ज की गई है, जो इस समय के वार्षिक औसत 4 मिमी से बहुत अधिक है। मौसम विभाग ने सोमवार को भी निचली और मध्य पहाड़ियों में बारिश और ऊंची पहाड़ियों में बर्फबारी की भविष्यवाणी की है।

Continue Reading

Himachal Pradesh

हिमाचल में बनीं 14 दवाओं के सैंपल फेल, CDSCO ने जारी किया ड्रग अलर्ट

Published

on

By

सोलन : हिमाचल की दवाओं के 14 सैंपल फिर फेल हो गए हैं। केन्द्रीय दवा नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने ड्रग अलर्ट जारी किया है। जनवरी माह की तुलना में भले ही इस बार दवाओं के कम सैंपल फेल हुए हैं लेकिन देशभर में दवाओं के फेल हुए 46 सैंपल में 14 सैंपल प्रदेश में बनी दवाओं के हैं। जनवरी माह में हिमाचल में बनी दवाओं के 40 सैंपल फेल हुए थे। जिन दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं, उनमें शुगर, संक्रमण, एंटीबायोटिक, एलर्जी, आंख, ब्लड कलॉट व दर्द निवारक दवाएं शामिल हैं। सीडीएससीओ ने देशभर से 932 दवाओं के सैंपल जांच के लिए भरे थे, जिसमें से 886 सैंपल निर्धारित मानकों पर खरी उतरे हैं जबकि 46 दवाओं के सैंपल सब स्टैंडर्ड पाए गए हैं। अब राज्य ड्रग विभाग ने 14 उद्योगों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है और मार्कीट से दवाओं का स्टॉक रिकॉल के आदेश जारी कर दिए हैं। राज्य दवा नियत्रंक मनीष कपूर का कहना है कि उद्योगों को नोटिस जारी कर दिए हैं और नियमानुसार कार्रवाई अमल में लाई जा रही है। उन्होंने बताया कि बीते माह के मुकाबले दवाओं में काफी सुधार हुआ है और दवाओं की गुणवत्ता को सुधारने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

इन उद्योगों की दवाओं के सैंपल हुए फेल
सीडीएससीओ से मिली जानकारी के अनुसार जिन उद्योगों की दवाओं के सैंपल फेल हुए हैं उनमें सनवेट हैल्थकेयर पांवटा साहिब की दवा क्लिंडामाइसिन इंजैक्शन का बैच नम्बर एसएआई-16589 व एमिसिन-100 का बैच नम्बर एसवीआई-6964, एक्विन्नोवा फार्मास्युटिकल्स बद्दी की दवा साइपरमैड सिरप का बैच नम्बर एक्यूसी 2339ए, जी लैब पांवटा साहिब की दवा मोक्सिजी-पी आई ड्रॉप का बैच नम्बर 1223-51, डीएम फार्मा बद्दी की दवा ट्रैनसाइक्ल-एमएफ का बैच नम्बर डीएमटी 1127, एएनजी लाइफ साइंस बद्दी की दवा फॉलिक एसिड टैबलेट का बैच नम्बर टी 112005 व डिक्लोफेनक सोडियम इन्जैक्शन का बैच नम्बर 213108, हैलर्स लैब बद्दी की दवा लैवोसेटिरिजन टैबलेट का बैच नम्बर एलवीयू-515, मैग्नेटेक एंटरप्राइज बद्दी की दवा ग्लिमेपिराइड का बैच नम्बर एमपीटी-22149, श्रीराम हैल्थकेयर बद्दी की दवा पेंटाप्राजोल गैस्ट्रो का बैच नम्बर पीएफटी 23007एमबी, फोर्गो फार्मास्यूटिकल बद्दी की दवा मोंटेलुकास्ट सोडियम का बैच नम्बर एफपीटी-2067, एसपो फार्मास्युटिकल्स बद्दी की दवा लेवोसेटिरिज़िन डाइहाइड्रोक्लोराइड का बैच नम्बर एटी22-0667ए, राचिल फार्मा संसारपुर टैरेस की दवा लेवोसेटिरिजिन डाइहाइड्रोक्लोराइड का बैच नम्बर आरटी 22464 व हेटेरो लैब बद्दी की दवा पेंटाप्राजोल का बैच नम्बर पीएनएस 230422 शामिल है।

Continue Reading

Himachal Pradesh

ठियोग में राधा स्वामी सत्संग घर के समीप खड़ी कार में लगी आग

Published

on

By

ठियोग : शिमला जिला के ठियोग उपमंडल के साथ लगते नंगल देवी राधा स्वामी सत्संग घर के समीप एक आल्टो के-10 कार में आग लग गई। जानकारी के अनुसार वाहन मालिक राजेंद्र सिंह (44) पुत्र स्वर्गीय लायक राम निवासी गांव शिवालटी ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है कि वह खेतीबाड़ी एवं बागवानी का काम करता है और सोमवार को निजी काम के चलते कार (एचपी 63ए-9218) में ठियोग गया था और शाम करीब 6 बजे जब वह वापस आया तो उसने अपनी कार घर से करीब डेढ़ किलोमीटर दूर फाइव स्टार रमेश ठाकुर के घर तथा राधा स्वामी सत्संग घर के समीप खुली जगह पर खड़ी की और घर चला गया।

रात करीब 9 बजे उसे फोन पर सूचना मिली कि गाड़ी में आग लगी है, जिस पन वह तुरंत मौके पर पहुंचा, जहां स्थानीय लोग एकत्रित थे और कार में आग लगी हुई थी। इस दौरान लोगों द्वारा रेत तथा पानी डालकर आग बुझाने का प्रयास किया गया लेकिन कार जल चुकी थी। कार में आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है और पुलिस द्वारा शिकायत दर्ज कर आगामी कार्रवाई की जा रही है।

Continue Reading

Trending