कोहरे का फायदा उठाकर नशा तस्कर भारतीय सीमा के अंदर गिरा रहे हेरोइन, 11 करोड़ की हेरोइन की जब्त - Early News 24

कोहरे का फायदा उठाकर नशा तस्कर भारतीय सीमा के अंदर गिरा रहे हेरोइन, 11 करोड़ की हेरोइन की जब्त

कोहरे का फायदा उठाकर नशा तस्कर भारतीय सीमा के अंदर गिरा रहे हेरोइन, 11 करोड़ की हेरोइन की जब्त

 मौसम बदलते ही पाकिस्तानी तस्करों की गतिविधियां तेज हो गई हैं। कोहरे का फायदा उठाकर तस्कर हेरोइन को भारतीय सीमा के अंदर गिरा रहे हैं. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले 8 दिनों में दो दर्जन से ज्यादा ड्रोन तस्करी की घटनाएं हो चुकी हैं. 

इसके साथ ही सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और पंजाब पुलिस ने 11 बार पाकिस्तानी तस्करों की कोशिशों को नाकाम किया है. इन 8 दिनों में बीएसएफ और पुलिस ने ड्रोन समेत ड्रग्स, हथियारों के साथ तस्करों को गिरफ्तार किया है.

मिली जानकारी के मुताबिक बीती रात बीएसएफ ने दो ड्रोन जब्त किए हैं. देर रात बीएसएफ और पंजाब पुलिस को ढाणी कलां में ड्रोन की आवाजाही की सूचना मिली. रात के अंधेरे में तलाशी अभियान चलाया गया. कुछ घंटों की मशक्कत के बाद देर रात ड्रोन को जब्त कर लिया गया. तरनतारन के दल को एक और सफलता हाथ लगी. यहां भी बीएसएफ को ड्रोन मूवमेंट की जानकारी मिली. आधी रात को तलाशी अभियान चलाया गया और एक छोटा ड्रोन जब्त किया गया.


उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, बीएसएफ द्वारा जब्त किए गए दोनों ड्रोन चीन में बने थे। सूत्रों के मुताबिक, चीन निर्मित यह ड्रोन भारतीय सीमा में हेरोइन की खेप भेजने के अलावा इसे उड़ाने वाले व्यक्ति को सीमावर्ती इलाकों में बीएसएफ की हरकत के बारे में भी जानकारी देता है। इसके बाद बीएसएफ छोटे कैमरे से लैस ड्रोन को लेकर सतर्क हो गई है.

पिछले कुछ वर्षों में ड्रोन की आवाजाही में तेजी आई है। इसके साथ ही बीएसएफ के जवान भी सक्रिय हो गए हैं. इस साल नवंबर तक बीएसएफ ने पंजाब से 90 ड्रोन, 493 किलो हेरोइन और 37 हथियार बरामद किए हैं. इस बीच 29 तस्कर और 3 पाकिस्तानी घुसपैठिए भी मारे गए हैं.

इसके साथ ही बीएसएफ ने पिछले 8 दिनों में 11 घटनाओं को रोका है. इस बीच बीएसएफ ने सीमा पर हेरोइन की खेप लेने आए 6 ड्रोन और 6 भारतीय तस्करों को पकड़ा है. इसके अलावा करीब 2 किलो हेरोइन की खेप भी जब्त की गई है. इन 8 दिनों में दो ग्लॉक पिस्टल भी जब्त की गई हैं, जो अत्याधुनिक तकनीक से बनी हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *