अमेरिका में भारतीयों पर नहीं रुक रहे हमले, अब शिकागो में एक छात्र पर भीषण हमला - Early News 24

अमेरिका में भारतीयों पर नहीं रुक रहे हमले, अब शिकागो में एक छात्र पर भीषण हमला

अमेरिका में भारतीयों पर नहीं रुक रहे हमले, अब शिकागो में एक छात्र पर भीषण हमला

अमेरिका में भारतीयों पर हमले नहीं रुक रहे हैं. अब शिकागो में एक भारतीय छात्र पर जानलेवा हमले की खबर ने सभी को हिलाकर रख दिया है. 4 फरवरी को हुए इस हमले का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जो दिल दहला देने वाला है. इस वीडियो को देखने के बाद विदेशों में रहने वाले भारतीयों की सुरक्षा को लेकर चिंता होना स्वाभाविक है. जिस छात्र पर हमला हुआ है वह हैदराबाद का रहने वाला है. हमले के बाद वह गहरे मानसिक तनाव और सदमे में हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, छात्र का नाम सैयद मजाहिर अली है जो हैदराबाद का रहने वाला है। उनकी पत्नी भारत में रह रही हैं. मजलिस बचाओ तहरीक (एमबीटी) के प्रवक्ता अमजद उल्लाह खान ने इस घटना से जुड़े कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर प्रशासन का ध्यान मजाहिर पर केंद्रित किया है. उन्होंने बताया कि छात्रा इंडियाना वेस्ले यूनिवर्सिटी से आईटी में मास्टर्स की पढ़ाई कर रही है. 4 फरवरी को कुछ लोगों ने उन पर हमला कर लूटपाट की थी. वीडियो के जरिए भारतीय दूतावास से भी मदद की अपील की गई है.

वायरल हो रहे एक वीडियो में मजाहिर का चेहरा खून से लथपथ नजर आ रहा है. वह बता रहे हैं कि उनके साथ यह घटना कब और कैसे घटी. दूसरा वीडियो सीसीटीवी फुटेज का है जो काफी हैरान करने वाला है. इसमें साफ देखा जा सकता है कि छात्र अपना सामान लेकर जा रहा था. तभी अचानक तीन लोग उसका पीछा करने लगे। अचानक वह उन्हें देखता है और आगे की ओर भागने लगता है। वे तीन व्यक्ति भी उसका पीछा करते हुए उसकी ओर दौड़े। उसे बुरी तरह पीटा गया और उसका फोन छीन लिया गया.

इसके बाद शिकागो स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने कहा है कि वे भारत में सईद मजाहिक अली नाम के छात्र और उसकी पत्नी के संपर्क में हैं और उसे सभी जरूरी मदद मुहैया कराएंगे.

शिकागो में भारतीय वाणिज्य दूतावास ने ट्विटर पर एक पोस्ट में लिखा, ”वाणिज्य दूतावास भारत में सैयद मजाहिर अली और उनकी पत्नी सैयदा रुकिया फातिमा रज़वी के संपर्क में है और उन्होंने हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। वाणिज्य दूतावास ने “स्थानीय अधिकारियों से भी संपर्क किया है जो मामले की जांच कर रहे हैं।” यह घटना ऐसे वक्त हुई है जब अमेरिका में भारतीय मूल के छात्रों पर हमले बढ़ते जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *