लाल सागर में भीषण तनाव, एक और आतंकी संगठन ने इजराइल को भड़काया - Early News 24

लाल सागर में भीषण तनाव, एक और आतंकी संगठन ने इजराइल को भड़काया

लाल सागर में भीषण तनाव, एक और आतंकी संगठन ने इजराइल को भड़काया

यरूशलम: यमन के लाल सागर तट के पास एक जहाज पर हमला हुआ। ऐसा कहा जा रहा है जैसे ही इजराइली जहाज पर हमला हुआ। इसकी जानकारी मंगलवार को ही सामने आ गई। गाजा पट्टी में इजराइल और हमास के बीच युद्ध चल रहा है। उस समय यमन में हौथी आतंकवादियों ने वाणिज्यिक जहाजों को नुकसान पहुंचाने की धमकी दी थी। ब्रिटेन की नौसेना ने हमले की पुष्टि की है। लाल सागर में अमेरिकी नौसेना के साथ-साथ ब्रिटेन की नौसेना भी तैनात है।

हौथी विद्रोहियों ने अभी तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। लेकिन हौथी आतंकियों के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल याह्या सारी ने जानकारी दी कि अगले कुछ घंटों में एक अहम घोषणा की जाएगी। हौथी आतंकियों को ईरान का समर्थन प्राप्त है। उन्होंने 7 अक्टूबर से लाल सागर में जहाजों पर लगातार हमले किए हैं। इजराइल और हमास के बीच युद्ध शुरू होते ही लाल सागर में तनाव चरम पर पहुंच गया है।

तीन ड्रोन मार गिराए गए

7 अक्टूबर को हमास के आतंकियों ने इजराइल पर हमला कर दिया। इसमें 1200 लोगों की जान चली गयी। इस हमले के बाद इजराइल ने हमास को नष्ट करने की कसम खाई है। गाजा पट्टी में पिछले तीन महीने से इजरायल और हमास के बीच युद्ध जारी है। हूथी आतंकियों ने इजराइल से जुड़े जहाजों पर हमला किया है। इस महीने की शुरुआत में अमेरिकी नौसेना ने लाल सागर में वाणिज्यिक सामान ले जाने वाले जहाजों को सुरक्षा दी थी। उस वक्त अमेरिकी नौसेना ने तीन ड्रोन मार गिराए थे।

क्या है इजराइल की रणनीति?

उत्तरी गाजा पर लगभग पूरी तरह से आईडीएफ (इजरायल रक्षा बल) का कब्जा है। फिलहाल दक्षिणी गाजा और वेस्ट बैंक में कार्रवाई चल रही है। आईडीएफ खान यूनिस सहित दक्षिणी गाजा के हर हिस्से पर बमबारी जारी रखता है। इजरायली लड़ाकू विमान भी आसमान से हमले कर रहे हैं। एक बड़ा सैन्य अभियान चल रहा है। गाजा के निवासियों को राफा क्रॉसिंग पर जाने के लिए मजबूर किया गया।

वेस्ट बैंक पर हमले

इस वक्त लाखों लोग राफा बॉर्डर के पास हैं। अल बायुक और शौकत अल-सूफी रेगिस्तानी इलाके में फंसे हुए हैं। दूसरी ओर, इजरायली सेना दक्षिणी गाजा की तरह वेस्ट बैंक पर भी हमला कर रही है। इसके पीछे का उद्देश्य वेस्ट बैंक में फिलिस्तीनियों को सीरिया और जॉर्डन सीमा की ओर धकेलना है। आईडीएफ की योजना उन्हें किसी भी हालत में भागने पर मजबूर करने की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *