UP की दो सगी बहनों की योगी आदित्यनाथ से गुहार, 'आश्रम बापू की तरह सजा देना कि की मांग' ब्रह्मकुमारी आश्रम में रहने वाली बहनों ने की खुदखुशी - Early News 24

UP की दो सगी बहनों की योगी आदित्यनाथ से गुहार, ‘आश्रम बापू की तरह सजा देना कि की मांग’ ब्रह्मकुमारी आश्रम में रहने वाली बहनों ने की खुदखुशी

UP की दो सगी बहनों की योगी आदित्यनाथ से गुहार, 'आश्रम बापू की तरह सजा देना कि की मांग' ब्रह्मकुमारी आश्रम में रहने वाली बहनों ने की खुदखुशी

यूपी के आगरा से सनसनी खबर सामने आई है| बता दे की दो सगी बहनों ने फांसी लगा कर आत्महतिया कर ली है | जान देने से पहले दोनों बहनों ने तीन पेज का सुसाइड नोट लिखा है और योगी आदित्यनाथ से आरोपियों को सजा दिलवाने की मांग की है | बता दे की दोनों सगी बहने आगरा के जगनेर के प्रजापति ब्रह्मकुमारी आश्रम में रहती थी | जिसमे संस्था के ही चार लोगो पर गंभीर आरोप लगाए है |
बता ते चले की दोनों बहनों ने सुसाइड नोट में अपनी जान देने का ज़िकर किया है और आश्रम बापू की तरह सजा दिलवाना की मांग की है|

सुसाइड नोट लिखा में लिखा गया है, ‘योगी जी रिक्वेस्ट करती हूं इस पापी ने हमारे दोनों बहनों के साथ गद्दारी की है. माउंड आबू में नौकरी करने वाले नीरज सिंघल ने हमें भरोसा दिलाया कि यहां सेंटर बनने के बाद वो साथ रहेगा लेकिन उसके बाद उसने बात करना बंद कर दिया. सेंटर खोले जाने को लेकर दोनों बहनों ने एक साल से परेशान रहने का जिक्र किया है. और इसके लिए आश्रम के चार लोगों नीरज सिंघल, धौलपुर के ताराचंद, नीरज के पिता और ग्वालियर के आश्रम में रहने वाली एक महिला को जिम्मेदार ठहराते हुए पैसे हड़पने का आरोप लगाया है.

UP की दो सगी बहनों की योगी आदित्यनाथ से गुहार, 'आश्रम बापू की तरह सजा देना कि की मांग' ब्रह्मकुमारी आश्रम में रहने वाली बहनों ने की खुदखुशी

सुसाइट नोट में ग्वालियर में रहने वाली महिला से इन लोगों (आरोपियों) के अवैध संबंध होने का भी जिक्र किया गया है. दोनों बहनों ने सुसाइड नोट में लिखा, ”हमारे पिता ने प्लॉट के लिए 7 लाख रुपए आश्रम से जुड़े लोगों को दिए थे. 18 लाख रुपए गरीब माताओं से लिए गए थे, जिन्हें आरोपियों ने हड़प लिया.वे लोग पैसे हड़पने के साथ-साथ महिलाओं के साथ अनैतिक काम करते हैं. उन्होंने आगे लिखा है, ‘सेंटर का 25 लाख रुपये वहां रहने वाली गरीब माताओं-बहनों का है और वो उन्हें ही मिलना चाहिए. दोनों बहनों ने आगे लिखा है इसने (आरोपियों)  वो पैसा देने से मना कर दिया और अफवाह फैला दी कि सेंटर उन्होंने बनवाया है. मैं कसम खाकर कह सकती हूं इसका एक पैसा भी सेंटर में नहीं लगा है. सुसाइड नोट में गुड्डन नाम के एक व्यक्ति का भी जिक्र किया गया है. पी के मुख्यमंत्री को संबोधित करते हुए आगे लिखा गया है कि वो बहुत अय्याश है और इसने अपनी बहू को भी नहीं छोड़ा और उससे उसके नाजायज संबंध हैं. सुसाइड नोट में दोनों बहनों ने आगे लिखा है, ‘कई बहनें (महिलाएं) सुसाइड कर लेती हैं और यह लोग (आरोपी) छिपा लेते हैं. हम दोनों बहनों के साथ गद्दारी हुई है. पापी नीरज सिंघल माउंट आबू में मॉडर्न कंपनी में नौकरी करता है. ग्वालियर मोती झील वाली पूनम, इसके पिता ताराचंद और उसकी बहन का ससुर गुड्डन जो जयपुर में रहता है. हमारे साथ 15 साल से रह रहा था और झूठ बोलता रहा. हमने कोई गलती नहीं की. सेंटर बनवाने में सारा पैसा हमारा लगा है.

UP की दो सगी बहनों की योगी आदित्यनाथ से गुहार, 'आश्रम बापू की तरह सजा देना कि की मांग' ब्रह्मकुमारी आश्रम में रहने वाली बहनों ने की खुदखुशी

सुसाइड नोट में दोनों बहनों ने सीएम योगी से अपील करते हुए आगे लिखा है, योगी जी नीरज, ताराचंद और गुड्डन तीनों को आजीवन सजा मिलनी चाहिए. मैं फिर बोलूंगी हमने अकेले पड़कर घबड़ाकर ये सब किया है, इन्होंने हमारे सेंटर के पैसे से फ्लैट खरीद लिया. ये लोग ब्याज पर पैसा लाते हैं और फिर उसी पर केस कर देते हैं. इन सब में पूनम, सविता और रश्मि भी शामिल है.  हम दोनों की जिंदगी खराब करने में इनका भी हाथ है.’
वहीं इस मामले को लेकर एसीपी ने बताया कि सभी आरोपी बाहर के हैं, इनमें से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और दो लोगों को पकड़ने के लिए टीम को रवाना किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *