अनुच्छेद 370 हटाए जाने के मामले में 11 दिसंबर को फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट - Early News 24

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के मामले में 11 दिसंबर को फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के मामले में 11 दिसंबर को फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

नेशनल डेस्कः सुप्रीम कोर्ट सोमवार, 11 दिसंबर को संविधान के अनुच्छेद 370 को निरस्त करने को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर फैसला सुनाएगा। अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिया गया था, जिसे बाद में 6 अगस्त, 2019 को सरकार ने रद्द कर दिया था। 5 सितंबर को भारत के मुख्य न्यायाधीश डी.वाई. के नेतृत्व वाली एक संविधान पीठ ने चंद्रचूड़ की पीठ ने सुनवाई पूरी कर ली थी और अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के मामले में 11 दिसंबर को फैसला सुनाएगा सुप्रीम कोर्ट

16 दिनों तक चली सुनवाई में याचिकाकर्ताओं और सरकार दोनों की ओर से अनुच्छेद 370 को रद्द करने और जम्मू-कश्मीर का राज्य का दर्जा खत्म करने के लिए अपनाई गई प्रक्रिया की संवैधानिकता पर प्रस्तुतियां दी गईं। मामला उस वक्त खासा गर्म हुआ था, जब कोर्ट ने मुख्य याचिकाकर्ता मोहम्मद अकबर लोन से इस बात का हलफनामा मांग लिया कि वह जम्मू-कश्मीर को भारत का अभिन्न हिस्सा मानते हैं। 

सरकार ने क्या दिया तर्क?
अटॉर्नी-जनरल आर. वेंकटरमनी, सॉलिसिटर-जनरल तुषार मेहता और वकील कनु अग्रवाल द्वारा प्रस्तुत सरकार ने तर्क दिया कि भारत संघ में जम्मू और कश्मीर के पूर्ण एकीकरण के लिए इसे निरस्त करना आवश्यक था। सरकार ने दावा किया कि अगस्त 2019 में अनुच्छेद 370 के निरस्त होने के बाद साढ़े चार वर्षों में घाटी में समृद्धि का अनुभव हुआ है। इसमें आगे कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर में चुनाव आसन्न थे, और स्थिति ठीक होने पर क्षेत्र पूर्ण राज्य का दर्जा हासिल कर लेगा। जमीन सामान्य हो गई।

मेहता ने इस बात पर जोर दिया कि जम्मू-कश्मीर “असाधारण रूप से चरम स्थिति” में केंद्र शासित प्रदेश में परिवर्तित हुआ। उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि, 2019 में निरस्तीकरण के बाद, आतंकवाद, घुसपैठ, पत्थरबाजी और सुरक्षा कर्मियों के हताहत होने की घटनाओं में क्रमशः 45.2%, 90.2%, 97.2% और 65.9% की कमी आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *