Connect with us

Haryana

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल की बड़ी कार्रवाई, भिवानी के कार्यकारी अधिकारी को किया निलंबित

Published

on

चंडीगढ़ : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सीएम विंडो पर दर्ज प्लॉट के अलॉटमेंट लेटर समय पर जारी न करने की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए शहरी स्थानीय निकाय, भिवानी के कार्यकारी अधिकारी अभय सिंह को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया है।

मुख्यमंत्री के ओएसडी और मुख्यालय पर सीएम विंडो की निगरानी कर रहे भूपेश्वर दयाल ने कहा कि सरकार द्वारा जनता को सभी योजनाओं व सुविधाओं का लाभ समयबद्ध तरीके से प्रदान करने के लिए अथक प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन कार्य में देरी करने को लेकर संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों पर लगातार सख्ती बरती जा रही है। इसी कड़ी में उपरोक्त कार्रवाई की गई है।

भूपेश्वर दयाल ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि अशोक कॉलोनी, भिवानी के निवासी शंकर द्वारा सीएम विण्डो पोर्टल पर एक शिकायत दर्ज करवाई गई थी, जिसमें बताया गया कि वर्ष 1985 में बोली के तहत उसने नगर परिषद्, भिवानी से एक प्लॉट खरीदा था। उसने प्लॉट के मूल्य की एक चौथाई राशि तथा सिक्योरिटी का पैसा जमा करवा दिया था। लेकिन नगर परिषद् द्वारा उसे आज तक प्लॉट का ऑलाटमेन्ट लेटर जारी नहीं किया गया।

उन्होंने बताया कि प्रार्थी प्लॉट की बकाया राशि भरने के लिए तैयार है। लेकिन 12 मई, 2022, 4 अगस्त, 17 नवंबर, 2022 तथा 5 अक्तूबर, 2023 को बार-बार रिमाइंडर जारी करने के बाद भी विभाग द्वारा कोई कार्यवाही रिपोर्ट अपलोड नहीं की गई। नगर परिषद् भिवानी के कार्यकारी अधिकारी अभय सिंह बतौर प्रशासकीय कार्यभारी अधिकारी होने के कारण इस मामले में कार्यवाही करवाने की जिम्मेवारी उनकी बनती है। इसलिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस मामले में की गई देरी के लिए जिम्मेवार शहरी स्थानीय निकाय, भिवानी के कार्यकारी अधिकारी अभय सिंह को निलंबित कर दिया। साथ ही शहरी स्थानीय निकाय विभाग के आयुक्त एवं सचिव को संबंधित मामले में कार्यवाही कर रिपोर्ट शीघ्रातिशीघ्र भिजवाने के भी निर्देश दिए हैं।

ओएसडी भूपेश्वर दयाल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल का ध्येय है कि जनता को हर हाल में तय समयावधि में सभी सुविधाएं मिले, इसमें किसी स्तर पर भी किसी प्रकार की ढिलाई न बरती जाए। मुख्यमंत्री न केवल सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों को गंभीरता से लेते हैं, बल्कि वे अन्य माध्यमों से प्राप्त नागरिकों के प्रतिवेदनों पर भी त्वरित कार्रवाई सुनिश्चित करवाते हैं। इसलिए अधिकारी व कर्मचारी जनता की शिकायतों को गंभीरता से लें और अपने कार्य में किसी भी प्रकार की देरी या कोताही न बरतें, ऐसा न करने वालों पर समय-समय पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Haryana

दो युवकों की लड़ाई को छुडाने गए Haryana के युवक की चाकू मार की हत्या

Published

on

ऑस्ट्रेलिया में Haryana के करनाल से एक युवक की हत्या का मामला सामने आया है | जहां दो युवकों के बीच के झगडे को सुलझाने गए Haryana के रहने वाले युवकचाकू मार कर हत्या करदी गई | हालांकि स्थानीय पुलिस ने दो आरोपी भाइयों को गिरफ्तार कर लिया है| आरोपी भी Haryana के करनाल के रहने वाले हैं|

दरअसल, करनाल के गगसीना गांव का रहने वाला नवजीत अपने सपनों को पूरा करने के लिए 2022 में पढ़ाई के लिए ऑस्ट्रेलिया गया था| वहां सब कुछ ठीक चल रहा था| 6 मई को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में दो युवकों के बीच हो रहे झगड़े को रोकने गए नवजीत की चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी| इलाज के दौरान नवजीत की मौत हो गई| नवजीत अपने माता-पिता का इकलौता बेटा था और उसकी एक बड़ी बहन है। नवजीत एम.टेक की पढ़ाई के लिए ऑस्ट्रेलिया गया था और उनके पिता एक किसान हैं। पिता ने जमीन बेचकर बेटे को पढ़ाई के लिए भेजा।

इस पूरी घटना से नवजीत (22) का कोई लेना-देना नहीं है| वह कमरे के किराये को लेकर दो आरोपियों के बीच हो रहे झगड़े में बीच-बचाव करने गया था| क्योंकि दोनों आरोपी करनाल के बसताड़ा गांव के रहने वाले थे| लेकिन उन आरोपियों ने उसे ही चाकू मार दिया गया| वह पिछले साल नवंबर 2022 में एम.टेक की पढ़ाई के लिए स्टडी वीजा पर ऑस्ट्रेलिया गया था। नवजीत पढ़ाई में बहुत होशियार थी| फिलहाल उनके घर में मातम का माहौल है और परिवार के लोग शव का इंतजार कर रहे हैं |

जानकारी के मुताबिक, करनाल के रहने वाले अभिजीत और रॉबिन को न्यू साउथ वेल्स के गॉलबर्न से गिरफ्तार किया गया है| विक्टोरिया पुलिस ने आधिकारिक जानकारी देते हुए बताया कि दोनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया गया है | फिलहाल एक इकलौता बेटे के मरने पर घर वाले बेहद ही दुखी है और उनका रो रो कर भूरा हाल है |

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Haryana

आधी रात को Haryana के गुरुद्वारा साहिब में लगी आग, मौके पर मच गई अफरा-तफरी

Published

on

fire in haryana gurudwara

Haryana के सोनीपत जिले के गोहाना कस्बे के मुगलपुरा में उस वक्त हफर तफरी मच गयी जब वहां स्थित गुरुद्वारा साहिब में देर रात आग लग गई| आग लगने के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई| जिसके बाद फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई। बाद में बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया गया| लेकिन तब तक काफी नुकसान हो चुका था|


जानकारी के मुताबिक, यह घटना बुधवार रात 1 बजे की है| गुरुद्वारा गुरु कलगीधर साहिब गोहाना शहर के मुगलपुरा में है। माना जा रहा है कि आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी है| बतादें कि पड़ोस में रहने वाले एक व्यक्ति ने गुरुद्वारा साहिब से धुआं निकलते देखा तो चिल्लाकर आसपास के लोगों को जगाया। हालांकि, जब तक लोग पहुंचे, तब तक गुरुद्वारा पूरी तरह आग की चपेट में आ चुका था।

लोगों ने अपनी जान की परवाह किए बगैर वहां रखे गुरु साहिब के दोनों स्वरूपों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। धर्मस्थल में आग लगने की सूचना फायर ब्रिगेड को भी दी गई। फायर ब्रिगेड ने पहुंचकर आग पर काबू पाया। गुरुद्वारा प्रबंधकों व कॉलोनी निवासियों ने बताया कि रात करीब एक बजे गुरुद्वारा साहिब में आग लग गई। इस आग कई चीज़े जल गई |

बतादें की आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट प्रतीत हो रहा है। इतनी भयानक आग के बावजूद गुरु साहिब के दोनों स्वरूप सुरक्षित हैं। इन्हें पास ही गुरु प्यारे के घर में रखा गया है। बाकी पुलिस मामले की जाँच कर रही है |

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Haryana

7 बच्चों की मां फिर बनी 5 बच्चों की मां; Haryana का गजब का मामला..

Published

on

अक्सर शादी की बहुत सी ऐसी खबरें आपने सुनी होंगी जिन्हें सुनकर या तो हंसी आए या फिर हैरानी हो। ऐसी ही एक खबर Haryana के नूंह से सामने आई है, जहां एक महिला ने पति की मौत के बाद घर से भागकर शादी कर ली। इसमें चौंकाने वाली बात ये है कि महिला 7 बच्चों की मां है, लेकिन जिस शख्स से उसने शादी की वो 5 बच्चों का पिता है। यानि अब दोनों के कुल 12 बच्चे हैं।

बता दें कि दोनों ही मुस्लिम समुदाय से हैं और उन्होंने मुस्लिम रीति रिवाज से शादी की है। शादी के बाद कुछ दिन तक वे पुलिस के प्रोटेक्शन होम में रहे। दोनों ने Punjab and Haryana High Court में जान का खतरा बताते हुए सुरक्षा की गुहार लगाई। लेकिन High Court ने उनकी याचिका को किन्हीं कारणों से खारिज कर दिया। साथ ही दोनों पर 50 हजार का जुर्माना भी लगाया। हालांकि, बाद में उनकी आर्थिक हालात को ध्यान में रख कर जुर्माना राशि को माफ कर दिया गया।

जानकारी के मुताबिक महिला के पति की मौत के बाद वो शख्स के संपर्क में आई। शख्स के खुद के 5 बच्चे हैं, इस वजह से उसे 7 बच्चों की मां से शादी करने में कोई एतराज नहीं था। दोनों ने घर से भाग कर मार्च महीने में शादी कर ली। दोनों के परिजनों को शादी कबूल नहीं थी। इसके बाद उनको परिजनों की ओर से धमकी दी गई और शादी तोड़ने को कहा।

मामले की सुनवाई के दौरान High Court में जज भी हैरान रह गए। जज ने कहा कि इस बात पर अपनी आंखें नहीं मूंद सकते हैं। दोनों के पहले विवाह से कुल 12 बच्चे हैं। देश की जनसंख्या इतनी तेजी से बढ़ रही है, इसका ख्याल नहीं कर रहे, लेकिन अपने बच्चों के भविष्य का तो ख्याल करो। बाद में दोनों ने अपनी याचिका वापस ले ली।

High Court ने याचिका खारिज करते हुए दोनों पर 50 हजार रुपए का जुर्माना किया। जज के रुख को देख कर दोनों ने अपनी आर्थिक हालात कमजोर होने का दुखड़ा सुनाया। आदेश के बाद याची के वकील ने याचिकाकर्ताओं की वित्तीय स्थिति व अन्य दलीलें दीं। इसके बाद High Court ने उन पर लगे 50 हजार के जुर्माने को माफ कर दिया।

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Trending