Connect with us

Punjab

Municipal Election: कई संभावित AAP उम्मीदवारों को आ रही मुश्किलें, जानें क्यों

Published

on

जालंधर : हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा उपचुनाव में जीत प्राप्त करने के बाद आम आदमी पार्टी ने अब जुलाई अगस्त महीने में जालंधर municipal election करवाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं  परंतु अभी तक आम आदमी पार्टी निगम चुनाव हेतु वार्डबंदी को ही फाइनल नहीं कर पाई। यह प्रक्रिया जालंधर निगम द्वारा पिछले 6 महीने से चलाई जा रही है परंतु अभी तक वार्डबंदी का जो ड्राफ्ट सामने आया है उससे सत्तापक्ष यानी ‘ आप ‘ के कई संभावित उम्मीदवारों को मुश्किलें पेश आ रही हैं ।  ऐसे में शहर में चर्चा है कि यदि वार्डबंदी में बदलाव ना किया गया तो आम आदमी पार्टी निगम चुनावों में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाएगी ।


चंडीगढ़ के एक ड्राफ्ट्समैन की सेवाएं लेगी पार्टी
आज से कई माह पहले जब जालंधर निगम की वार्डबंदी की प्रक्रिया शुरू की गई  , तब जालंधर निगम के अधिकारियों के साथ-साथ लोकल बॉडीज विभाग चंडीगढ़ के एक सुपरिटेंडेंट लेवल के अधिकारी की भी सेवाएं ली गई थी । यह अधिकारी वार्डबंदी का विशेषज्ञ माना जाता है और पिछली वार्डबंदी में भी इसी अधिकारी ने कांग्रेसी नेताओं के साथ मिलकर उनकी मनमर्जी से वार्डबंदी फाइनल की थी । उसी वार्डबंदी के आधार पर कांग्रेसी 80 में से 65 सीटें जीतने में कामयाब हो गए थे । इस बार आम आदमी पार्टी के नेताओं ने इसी  अधिकारी के बल पर वार्डबंदी को फाइनल रुप दिया परंतु जब इसका ड्राफ्ट डीलिमिटेशन बोर्ड की बैठक में रखा गया तब उसमें काफी बदलाव देखा गया जिसके बाद संदेह व्यक्त किया जाने लगा कि चंडीगढ़ के इस अधिकारी ने कुछ लोगों के साथ मिलकर वार्डबंदी के ड्राफ्ट को ही बदल दिया है ।अब आम आदमी पार्टी के नेताओं ने चंडीगढ़ लोकल बॉडीज के एक  ड्राफ्टमैन की सेवाएं ली है जो इसी सप्ताह जालंधर आकर वार्डबंदी में कुछ बदलाव करेंगे और उसे ‘  आप ‘ की जीत का आधार बनाया जाएगा ।


अंदरखाते कई कांग्रेसी नेता भी वार्डबंदी ठीक करवाने के प्रयास में
इस  समय शहर के राजनीतिक हालात अत्यंत अजीब बने हुए हैं ।  शहर के कई कांग्रेसी और भाजपा नेता आम आदमी पार्टी में शामिल हो चुके हैं जबकि कई आप  में जाने को तैयार बैठे हैं । जो नेता कांग्रेस पार्टी के ही टिकट पर चुनाव लड़ना चाह रहे हैं वह भी अपने उन पुराने साथियों के बल पर वार्डबंदी में बदलाव चाह रहे हैं जो आप में चले गए हैं । अब देखना है कि किस-किस उम्मीदवार की इच्छा के मुताबिक वार्डबंदी में बदलाव होता है।

Punjab

Punjab: यात्रियों से भरी बस का हुआ भयानक एक्सीडेंट, दो यात्रियों की हुई मौके पर मौत

Published

on

Punjab में सड़क दुर्घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। पंजाब के समराला के पास आज सुबह 5 बजे के बाद भीषण सड़क हादसा हुआ है| हादसा इतना भयानक था की बस के आगे का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया और बस में सवार यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। इस हादसे में दो यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई और करीब 12 यात्री घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए समराला के सिविल अस्पताल ले जाया गया।

बतादें की चारधाम की यात्रा के लिए इंदौर से निकली यात्री बस में करीब 50 यात्री सवार थे| जो यात्री 8 तारीख से यात्रा के लिए निकले थे, आज सुबह करीब 5 बजे समराला से चार किलोमीटर दूर चाहलां गांव के पास एक दर्दनाक हादसा हो गया, जिसमें दो यात्रियों की जान चली गई और 12 यात्री गंभीर रूप से घायल हो गए, जो समराला के सिविल अस्पताल ले जाया गया। जो यात्री अच्छी हालत में थे उन्हें पास के मंदिर में ले जाया गया है।

हादसा होने के बाद आसपास के गांव के लोग मौके पर जमा हो गए और उन्होंने बस में फंसे यात्रियों को बाहर निकालने के लिए राहत कार्य शुरू कर दिया|

समराला पुलिस भी मौके पर पहुंच गई थी और घायल यात्री को बस से बाहर निकालकर समराला के सिविल अस्पताल ले जाया गया। इस हादसे में दो महिला यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक अन्य यात्री की हालत बेहद गंभीर बताई जा रही है|

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Punjab

मोबाइल टूट जाने के डर से Firozpur में बच्चे ने उठाया ये खौफनाक कदम

Published

on

एक दिल दहला देने वाली खबर सामने आ रही जहां एक 10 साल के प्रवासी बच्चे ने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली है| वजह जान आप भी हैरान हो जायँगे | यह घटना Firozpur के गांव विरक खुर्द से सामने आई है| जहां मृतक बच्चे ने ये खौफनाक कदम उठाया है | मृतक बच्चे की पहचान कर्ण निवासी अराईयांवाला गांव के रूप में हुई है। आपको बता दें कि करण ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आगे की करवाई शुरू करदी है |

जानकारी के मुताबिक करण के पिता मध्य प्रदेश में रहते हैं और वह अपनी मां के साथ गांव अराईयांवाला में रह रहा था. वह चौथी कक्षा का छात्र था। बताया जा रहा है कि करण से गलती से मोबाइल टूट गया था, जिसके बाद वह काफी डर गया और जिस कारन उसने यह खौफनाक कदम उठाया।

इस मामले को लेकर डीएसपी अतुल सोनी ने बताया कि करण गांव अराईयांवाला का रहने वाला है. वहीं करण से गलती से मोबाइल टूट गया था, जिससे वह डर गया| इसके बाद वह बाहर खेतों में गया और पाइप से फांसी लगा ली। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है|

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Punjab

Dhuri में पुजारियों की शर्मनाक करतूत, हत्या कर मंदिर के हवन कुंड के नीचे दबाया युवक!

Published

on

Dhuri से दिल दहला देने वाली खबर सामने आई जहां एक मंदिर के पुजारी ने 33 साल के नौजवान का कतल करके उसकी लाश को मंदिर के ही हवन कुंड के ननीचे दबा दिया जिससे पुरे महले में सनसनी फैल गई |

बतादें की Dhuri के डबल रेलवे फाटक के पास बगलामुखी मंदिर के पुजारियों द्वारा Dhuri के ही रहने वाले 33 वर्षीय संदीप कुमार पुत्र गुरिंदर कुमार की बड़े ही बेरहमी से हत्या कर दी गई | इतना ही नहीं हत्या करने के लाश को हवन कुंड के नीचे दबा दिया गया |

वहीं थाना सिटी Dhuri के थाना प्रभारी सौरभ सभरवाल ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा के सुदीप कुमार के पारिवारिक में बरों द्वारा थाना सिटी धुरी को पिछले दिनी दी दरखास्त के अनुसार सुदीप कुमार जो के छोटे बच्चों को पंडित विद्या सिखाता था और जो 2 तारीख को घर नहीं आया था जब घरवालों ने मंदिर में जाकर पूछा तो मंदिर के पंडित परमानंद ने बताया के वो 2 दिन से मंदिर नही आया है मगर जब पुलिस ने मंदिर के पंडित के परमानंद से पूछताछ की तो उस पर पुलिस को शक हुआ और इसको थाने लाया गया तो परमानंद ने सुदीप कुमार के कतल की सारी कहानी बताई और माना के उसने उसका कतल करके हवनकुंड के नीचे दबा दिया है ।

जिस पर करवाई करके थाना सिटी पुलिस Dhuri के प्रभारी सौरव सभरवाल ने हवनकुंड के नीचे से दबाई हुई लाश को निकाला और पोस्ट मार्टम के लिए सरकारी अस्पताल में रखवा दिया है ।

थाना प्रभारी ने जानकारी देते हुए कहा के मंदिर बगलामुखी के पुजारी परमानंद और मुख पुजारी अशोक शास्त्री के खिलाफ कतल का मामला दर्ज करके अगली करवाई आरंभ कर दी है और उन्हों ने कहा के किसी भी दोषी को बक्शा नही जायेगा । दूसरी तरफ जब ये बात Dhuri के लोगों के पास पहुंची तो वह Dhuri थाना मे भारी संख्या में पहुंचे। और देर रात तक वही ही बैठे रहे उन का कहना था के जब तक दोषियों के खिलाफ सख्त कारवाई नही की जाती हम यही पर बैठे हुए हैं।

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Trending