असम में राहुल गांधी से अभद्रताः विरोध-प्रदर्शन करने जा रहे पूर्व मंत्री नकुल दुबे समेत कांग्रेस नेताओं को किया गया नजर बंद - Early News 24

असम में राहुल गांधी से अभद्रताः विरोध-प्रदर्शन करने जा रहे पूर्व मंत्री नकुल दुबे समेत कांग्रेस नेताओं को किया गया नजर बंद

असम में राहुल गांधी से अभद्रताः विरोध-प्रदर्शन करने जा रहे पूर्व मंत्री नकुल दुबे समेत कांग्रेस नेताओं को किया गया नजर बंद

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटी हरदोई द्वारा गांधी भवन सभागार में संवाद व कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि मंत्री नकुल दुबे और प्रदेश महासचिव अवध जॉन, प्रभारी महासचिव व पूर्व विधायक राकेश राठौर, प्रदेश सचिव हरदोई, कांग्रेस प्रभारी सुरेंद्र कुशवाहा भी मौजूद रहे। वहीं नकुल दुबे समेत अन्य कांग्रेस नेताओं ने प्रशासन पर नजरबंद करने का आरोप लगाया।

वहीं पूर्व मंत्री नकुल दुबे और कांग्रेस जिलाध्यक्ष आशीष कुमार सिंह ने जिला प्रशासन पर नजर बंद करने का आरोप लगाया है। कार्यक्रम के बाद पूर्व मंत्री नकुल दुबे ने कहा हम लोगों को दिक्कत यह है कि देश और पूरा प्रदेश झेल रहा है कि आज चैन से सड़कों पर चलना दूभर हो गया है। हम लोग बहुत शांतपूर्ण ढंग से गांधी भवन से यहां तक बाबा साहब की मूर्ति पर माल्यार्पण करने आना चाह रहे थे लेकिन प्रशासन के दबाव के कारण हम लोगों को अनुमति नहीं दी गई। हमारे पूर्व विधायक राकेश राठौर, सुरेंद्र कुशवाहा, मंजू मिश्रा, विक्रम पांडेय सहित हम चार-पांच लोगों को अनुमति दी गई। हम लोग बाबा साहब की मूर्ति पर माल्यार्पण कर यही संकल्प दोहरा रहे हैं कि जब तक सांस है और शरीर में एक भी खून का कतरा है हम अपने संविधान को कतई मिटने नहीं देंगे। संविधान को मिटाने वाले इस देश को छोड़कर जाएंगे लेकिन संविधान हमारा यूं ही इंटेक पड़ा रहेगा।

कांग्रेस जिला अध्यक्ष द्वारा नजरबंद को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि तानाशाही हो रही है। अगर शांतिपूर्ण प्रदर्शनों पर भी रोक लगाई जाएगी तो निश्चित रूप से लोकतंत्र की हत्या है। अगर देश को बचाना है तो हम सब लोगों को चाहें पार्टियां हों, चाहे लीडरसिप हो इस युद्ध को थामना होगा। संविधान बचाने का कार्य करना होगा।

कहा कि आज हम लोग यहां पर एकत्रित हुए थे संवाद के लिए और बातचीत के लिए भी। असम में राहुल गांधी की यात्रा में व्यवधान डालने का कार्य किया गया है। उसका विरोध करने के लिए सांकेतिक विरोध करने के लिए ही जनपद में एकत्रित हुए थे। हम लोग यहां तक आना चाहते थे लेकिन प्रशासन ने हम लोगों को अनुमति नहीं दी। लिहाजा हम पांच लोग यहां आकर माल्यार्पण कर रहे हैं।

वही इस मामले में जिला अध्यक्ष आशीष कुमार सिंह ने कहा कि आज हम सभी कांग्रेस जन संवाद कार्यशाला में एकत्रित थे। आज हमारा प्रोटेस्ट था। राहुल गांधी की असम में जो यात्रा निकली थी जिस पर हमला हुआ। भाजपा सरकार के गुंडों द्वारा उसमें हम लोग गांधी भवन से बाबा साहब की मूर्ति तक एक विरोध मार्च निकलना चाह रहे थे। इस न्याय का हक मिलने तक के नारे के साथ जिसके लिए राहुल जी लड़ रहे हैं। आरोप लगाया कि जिला प्रशासन और यहां के लोगों ने हम लोगों को नजरबंद कर दिया। नकुल दुबे समेत 4 से 5 लोगों को ही माल्यार्पण करने के लिए जाने दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *