MP Election Results: मध्य प्रदेश में क्यों बुरी तरह हारी कांग्रेस, जानिए 5 बड़े कारण... - Early News 24

MP Election Results: मध्य प्रदेश में क्यों बुरी तरह हारी कांग्रेस, जानिए 5 बड़े कारण…

MP Election Results: मध्य प्रदेश में क्यों बुरी तरह हारी कांग्रेस, जानिए 5 बड़े कारण...

भोपाल। मध्य प्रदेश में मतगणना से पहले कांग्रेस लगातार जीत का दावा कर रही थी। लेकिन प्रचंड बहुमत भारतीय जनता पार्टी को मिला है बता दें की मध्य प्रदेश में कांग्रेस को भाजपा की टक्कर में माना जा रहा था लेकिन नतीजे ने सभी लोगों को चौंका दिया है और मध्य प्रदेश में फिर एक बार भाजपा सरकार बनने जा रही है। आईए जानते हैं कांग्रेस की हार के कुछ बड़े कारण।

  1. जमीनी स्तर पर कमजोर पड़े कार्यकर्ता…

    कांग्रेस के कार्यकर्ता भाजपा के कार्यकर्ताओं के मुकाबले जमीनी स्तर पर कमजोर दिखाई दिए। कांग्रेस का अभियान भी बीजेपी के आगे फीखा था और कांग्रेस के नेताओं ने भी लोगों का विश्वास बीजेपी के मुकाबले कम जीता।
  2. गुटबाजी बनी हार का कारण…
    कांग्रेस में चुनाव से पहले जमकर गुटबाजी भी नजर आई थी। कई सीटों पर टिकट की दावेदारी कर रहे दावेदारों ने प्रत्याशियों को लेकर हंगामा भी किया था और निर्दलीय चुनाव लड़ने तक की घोषणा कर दी थी बताया जा रहा कि इन नेताओं ने भी कांग्रेस का वोट काटने का काम किया है।
  3. भाजपा ने उतार दिए दिग्गज
    मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा ने एक नया प्रयोग किया और अपने कई केंद्रीय मंत्रियों को मैदान में उतार दिया था। लेकिन अगर कांग्रेस की बात करें तो पूरे चुनाव के दौरान दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के अलावा कोई बड़ा चेहरा लोगों को नजर नहीं आया।
  4. लाड़ली बहना योजना ने दिखाया असर…
    शिवराज सरकार की लाड़ली बहना ने भी गेम चेंजर का काम किया है। इस योजना के तहत सरकार हर महीने प्रत्येक महिला के खाते में 1250 रुपए ट्रांसफर करती है। कांग्रेस के हार की एक बड़ा कारण शिवराज सरकार की जनहितेषी योजनाओं को भी माना जा रहा है।
  5. भाजपा का मुख्यमंत्री फेस घोषित न करना
    भाजपा ने मुख्यमंत्री फेस की घोषणा नहीं की थी। यह बड़ी वजह थी कि हर नेता को अपने लिए नेतृत्व की संभावना नजर आई और उन्होंने पूरी ताकत से चुनाव जीतने पर जोर लगाया। हालांकि अभी सीएम के तौर पर शिवराज सिंह चौहान को ही सबसे आगे माना जा रहा है। इसी के साथ ज्योतिरादित सिंधिया की भी भूमिका से कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ा। सिंधिया के 16 नेताओं को भाजपा ने टिकट दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *