Connect with us

Haryana

न्याय की परंपरा का निर्वहन करने के लिए करना पड़ता है युद्ध : खट्टर

Published

on

चंडीगढ़ : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर रविवार को वृंदावन में पहुंचे और वृंदावन के वात्सल्य ग्राम में ‘षष्ठीपूर्ति महोत्सव’ में शिरकत की। मुख्यमंत्री ने महोत्सव में परम पूज्या साध्वी ऋतम्भरा को उनके अवतरण दिवस की बधाई दी। इस दौरान विशेष रूप से स्वामी परमानंद गिरी महाराज भी मौजूद रहे और उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को स्मृति चिह्न भी भेंट किया। पिछले रविवार ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी जी महाराज की ओर से हरिद्वार में आयोजित एक अध्यात्मिक महोत्सव में भी शिरकत की।

गौरतलब है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री धर्म परायण व्यक्ति हैं। वे खुद भी अपने व्यस्त समय में से वक्त निकालकर अक्सर तीर्थ स्थलों पर जाते हैं तो साधु-संतों से भी मुलाकात करते हैं। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री ने हरियाणा में अंतरराष्ट्रीय गीता महोत्सव मनाने की पहल की तो श्रीमद्भागवत गीता के शोकों को स्कूूली पाठ्यक्रम में भी शामिल करवाया। मुख्यमंत्री स्वयं गीता की एक छोटी प्रति हमेशा अपनी जेब में रखते हैं। वृंदावन के वात्सल्य ग्राम में हुए महोत्सव के बाद मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘आज प्रभु श्री कृष्ण जी के पावन धाम मथुरा के वात्सल्य ग्राम, वृन्दावन में आयोजित ‘षष्ठीपूर्ति महोत्सव’ में शामिल होकर परम पूज्या दीदी मां साध्वी ऋतम्भरा जी को अवतरण दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए उनके सुदीर्घ जीवन हेतु कामना की। विभिन्न प्रकल्पों के माध्यम से सेवाकार्य करने वाले संतों-मुनियों के हम आभारी हैं, जो हमारे अंदर संघर्ष और वीरता का भाव जगाते हैं तथा हमें आध्यात्मिकता और धार्मिकता से जोड़ते हुए जीवन जीने की प्रेरणा देते हैं।’ उल्लेखनीय है मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की धर्मपरायणता ही है कि उन्होंने धर्मनगरी कुरुक्षेत्र के विकास के लिए खास योजना बनाई तो बुजुर्गों को तीर्थ स्थलों की यात्रा करवाने की भी अनूठी पहल की। इसके साथ ही हरियाणा सरकार की ओर से संतों व महापुरुषों की जयंती राज्यस्तर पर मनाने की भी परपंरा शुरू की गई है।

मुख्यमंत्री ने संतों के प्रकल्पों को बताया अनूठा

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने महोत्सव के दौरान अपने संबोधन में कहा कि न्याय की परंपरा का निवर्हन करने के लिए युद्ध भी करना पड़ता है। उन्होंने वात्सल्य ग्राम में शुरू किए प्रकल्पों को सेवा का अनूठा प्रयास बताया है। उन्होंने कहा कि संत हमको अध्यात्मिकता का और जीवन जीने का संदेश देते हैं। मुख्यमंत्री ने साध्वी ऋतम्बरा की ओर से अध्यात्म के प्रचार-प्रसार को लेकर किए जा रहे प्रकल्पों की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने स्वयं हरियाणा में साध्वी ऋतम्भरा के साथ अध्यात्मिकता के अनेक प्रकल्प किए। उन्होंने कहा कि रामजन्मभूमि अयोध्या में जनवरी में ऐतिहासिक कार्यक्रम होगा। इसके लिए हमें लंबा इंतजार करना पड़ा। उन्होंने कहा कि 22 जनवरी को हमने एक नई दीवाली मनानी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा में तो आज हम एक समस्या से जूझ रहे हैं। नशा हरियाणा में युवाओं का जीवन बर्बाद कर रहा है। इसी साल मई में हमने संतों के सानिध्य में नशे के खिलाफ एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया था। उन्होंने कहा कि मादक पदार्थों का सेवन बढऩा आने वाली पीढ़ी के लिए खतरे का संकेत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में जब उन्होंने मुख्यमंत्री का पद संभाला तो नशे जैसे कलंक को दूर करना एक चुनौती थी, मगर हमने नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाने के साथ-साथ सख्त कानून बनाकर इस पर काफी हद तक काबू पा लिया है। कन्या भू्रण हत्या को सामाजिक बुराई बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाई अभियान का आगाज किया और आज 9 वर्षों में लिंगानुपात 871 से सुधरकर 932 हो गया है।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Haryana

Haryana के मंत्री मूलचंद शर्मा का बड़ा बयान, कहा “हम कोर्ट के आदेश का सम्मान करते हैं”

Published

on

पंजाब और Haryana हाई कोर्ट ने हरियाणा सरकार को शंभू बॉर्डर खोलने का आदेश दिया है| कोर्ट के इस आदेश पर हरियाणा के मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि हम कोर्ट के आदेश का सम्मान करते हैं| हाई कोर्ट ने कहीं नहीं कहा है कि रास्ता खुलने के बाद दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करें| मूलचंद शर्मा ने कहा, ‘सड़क खुलने से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन लोगों को नियमों के मुताबिक रहना चाहिए|

मूलचंद शर्मा ने कहा, ”आम लोगों और यातायात की सुरक्षा का ध्यान रखना जरूरी है. सभी का ख्याल रखना चाहिए| ‘ सभी के समय का ध्यान रखना चाहिए. हम हाई कोर्ट के आदेश का सम्मान करते हैं| ” शर्मा ने कहा, ”किसानों को जो भी बात करनी है वो यहां से भी कर सकते हैं| दिल्ली में क्या करें? यहां जो कहना है कहो, सरकार आ जायेगी| केंद्रीय मंत्री या मुख्यमंत्री आएंगे| दिल्ली में क्या करें? जब हरियाणा का काम यहीं हो सकता है तो दिल्ली क्यों जाएं।

बता दें कि पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने शंभू बॉर्डर को एक सप्ताह के भीतर खोलने का आदेश दिया है. कोर्ट ने किसान शुभकरण सिंह की मौत की जांच के भी आदेश दिए हैं| कोर्ट ने झज्जर पुलिस कमिश्नर के नेतृत्व में एसआईटी गठित कर जांच के आदेश दिए हैं|

उधर, किसान नेता सरवन सिंह पंधेर ने भी हाई कोर्ट के आदेश पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है| सरवन सिंह पंधेर का कहना है कि वह अपने वकीलों से बात कर रहे हैं और हाईकोर्ट के आदेश की कॉपी पढ़ने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी|

पंधेर ने कहा कि 16 जुलाई को किसान संगठनों की बैठक बुलाई गई है| उस बैठक में आगे की रणनीति तय की जायेगी| पंढेर ने कहा कि किसान पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि हरियाणा सरकार ने हमें दिल्ली जाने से रोकने के लिए सड़क बंद कर दी है और यह सड़क किसानों ने बंद नहीं की है|

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Haryana

एग्जाम देने जा रहे लड़कों की कार ट्रॉली से टकराई, Car में लगी भयानक आग

Published

on

हरियाणा के कुरूक्षेत्र के पिहोवा में नेशनल हाईवे-152डी पर देर रात भीषण सड़क हादसा हो गया| यहां स्विफ्ट Car एक ट्रक से टकरा गई और हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई| कार में सवार एक शख्स घायल हो गया है, उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है| स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है|

घटना सोमवार रात करीब 11 बजे की बताई जा रही है। पुलिस के मुताबिक, झज्जर के गांव मंजपुरा का आशीष और उसके 3 दोस्त स्विफ्ट कार में सवार होकर परीक्षा देने हिमाचल प्रदेश जा रहे थे।

रात करीब 11 बजे एनएच 152डी पर गांव मुर्तजापुर के पास उनकी कार एक ट्रक के पीछे से टकरा गई, जिससे उनकी कार में आग लग गई। हादसे के बाद कार में आग लग गई और उसमें सवार तीन लोग जिंदा जल गए, जबकि चौथा शख्स गंभीर रूप से घायल हो गया| सूचना मिलने के बाद दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया।

पुलिस के मुताबिक आशीष अभी बयान देने की हालत में नहीं है। आशीष का निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि 3 युवक अलग-अलग जगहों के रहने वाले हैं।

जांच अधिकारी सतीश कुमार ने बताया कि गाड़ी में 4 लोग सवार थे, जिनमें से 3 की मौत हो गई है| एक घायल व्यक्ति का कुरूक्षेत्र के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है| उन्होंने बताया कि कार झज्जर से चंडीगढ़ जा रही थी| फिलहाल मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है |

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Haryana

Fatehabad: तीन साल की बच्ची को अगवा कर सामूहिक Rape, 2 युवक पकड़े

Published

on

एक बेहद ही शर्मनाक खबर सामने आई है | दरअसल फतेहाबाद के टोहाना गांव में एक व्यक्ति ने मासूम लड़की का Rape किया | शनिवार की रात क्षेत्र के एक गांव में अगवा करके साढ़े 3 साल की मासूम बच्ची के साथ दो युवकों द्वारा Rape किया गया। रात को करीब 3 बजे बच्ची का पिता जागा तो वह बिस्तर पर नहीं मिली। तलाश करने पर वह जाखल रोड पर लहूलुहान अवस्था में मिली। पुलिस ने बच्ची का मेडिकल परीक्षण करवाया तो Rape की पुष्टि हुई।

पिता के बयान पर बिहार के रहने वाले मुकेश और सतीश पर मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों को सोमवार को अदालत में पेश किया जाएगा। पुलिस को दी शिकायत में बच्ची के माता-पिता ने बताया कि वे यूपी के रहने वाले हैं और दो माह पहले टोहाना के पास स्थित एक गांव में खेत में मजदूरी करने को आए थे। यहां एक जमींदार के खेत में बने मकान में ही रह रहे हैं।

शनिवार रात को उनकी जान पहचान के 3 युवक घर पर आए थे। इनमें से दो युवक मुकेश और सतीश उनकी बच्ची को अगवा करके ले गए और दुष्कर्म किया। थाना सदर प्रभारी देवीलाल ने बताया दोनों के खिलाफ दुष्कर्म, पॉक्सो एक्ट और अपहरण के आरोप में मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

author avatar
Editor Two
Continue Reading

Trending